तुम हो

अक्सर सोचा करती हूं कि लफ़्ज़ क्यो बेवफ़ाई करते हैं अरमानों को अल्फ़ाज़ों में बयां करने से क्यो डरते हैं पर फ़िर दिल को इस बात से सुकून है कि तुम हो मेरी खामोशियों को अल्फ़ाज़ देते हुए……. तुम हो आंखों में बुने ख्वाबों को पढ़ते हुए…….. तुम हो और क्योंकि ‌तुम हो इन लफ़्ज़ोंContinue reading “तुम हो”

उलझन / Labyrinth

दिल का दर्द भी वही और दवा पर भी उन्हीं का नाम कौन कहता है मोहब्बत की राह है आसान Translation The wounds of her heart Had the same name written on them Which she had given to the balm Love is not linear But a labyrinthine path © Sakshi Gangwani

अल्फ़ाज़ो के पिंजरे

मोहब्बत बयां करने की कोशिश में कहीं अल्फ़ाज़ो के जाल में जस्बात गुम ना जाए। कहने और सुनने का फासला तय करने में कहीं कुछ आधा अधुरा सा न रह जाए। करने चले थे वफ़ा पर कहीं बेवफ़ाई का दाग न लग जाए। पर सोचते हैं गर नज़रें उठाकर देख लें वो तो शायद अल्फ़ाज़ोContinue reading “अल्फ़ाज़ो के पिंजरे”

तुम हो/ You by my side

तुम हो इतना बहुत है आस पास ना‌ भी सही हर एहसास में ही सही पर तुम हो इतना बहुत है जो हम दोनों के बीच है वो दुनिया के लिए सिर्फ रूमानी सही पर रहेगा तो वो रूहानी ही तुम हो बस इतना बहुत है। Translation When you are by side Then there isContinue reading “तुम हो/ You by my side”

मुठ्ठी भर/ Fistful

एक बंद मुट्ठी में रुकी गीली मिट्टी जितनी ख्वाहिशें है कुछ ज़्यादा तो नहीं हर ख्वाहिश पूरी ही‌ हो ऐसी कोई शर्त नहीं बस ख्वाबों पर बंदिश ना हो मोहब्बत की कोई हद ना हो सरहदें ज़मीन से मिट ना भी सके तो कोई ग़म नहीं बस दिलों में लकीरों की गुंजाइश ना हो एकContinue reading “मुठ्ठी भर/ Fistful”

Moon’s reverie (translation)

इस चांद में कुछ तो बात है जो सब भूल जाते हैं कि इस पर दाग है हर आशिक़ इसे देख आंहें भरता है पर ये ख़ुदग़र्ज़ कभी छुपता ….. तो कभी उगता है हर शायर की शायरी में चांद है हर गायक की गायकी में चांद है रात के अंधेरे में चुपके से आताContinue reading “Moon’s reverie (translation)”

Zindagi/ Life

Zindagi se har Roz milti Hoon main Meri khidki ke jharokhe se dikhti hai Muskurati Hui……. lehrati Hui……… Shokhi si……. Pass bulati Hui Magar Chhoone se pehle hi Bhaag jati hai kahin Door se awaaz aati hai bas Zindagi Hoon Itni aasani see haath lag gayi To sochoge Yeah bhi koi Zindagi thi ********** IContinue reading “Zindagi/ Life”